परिजात वृक्ष को स्वर्ग से पृथ्वी पर लाने की कथा।

हरिवंश पुराण के अनुसार परिजात के वृक्ष को कल्पवृक्ष भी कहा जाता है। इस वृक्ष की उत्पत्ति देव दानवों के द्वारा समुद्र मंथन के समय हुई…

वृंदा कैसे बनी तुलसी

शिव भगवान के तीसरे नेत्र से उत्पन्न असुर राज शंखचूड़ अत्यंत पराक्रमी एवं शक्तिशाली राजा था। शंखचूड़ का विवाह वृंदा नाम की कन्या के साथ…

गणेश पूजा में क्यों नही चढ़ाई जाती तुलसी ?

हिन्दू धर्म में तुलसी का बहुत महत्व है। प्रत्येक शुभ कार्य में तुलसी का उपयोग होता है।हवन, पूजन, यज्ञ, शादी जैसे अनेकों शुभ कार्य तुलसी…

हनुमान पुत्र मकरध्वज की कथा

हम सभी जानते हैं कि हनुमान जी ब्रह्मचारी थे। लेकिन कथाओं में कई तथ्यों में पाया गया है कि हनुमान जी का एक पुत्र था…

पंचमुखी हनुमान के पांच मुखों का महत्व व पूजा विधि

पंचमुखी हनुमान की प्रतिमा के पहले वानर मुख से सारे दुश्मनों पर विजय मिलती है। दूसरे गरुड़ मुख से सारी रुकावटों परेशानियों का विनाश होता…

पंचमुखी हनुमान रुप धारण करने की दूसरी कथा

ज्यादातर पंचमुखी हनुमान की यह कहानी प्रसिद्ध है कि जब अहिरावण राम लक्ष्मण को पाताल लोक ले गया तब हनुमान राम लक्ष्मण को छुड़ाने पाताल…

पंचमुखी हनुमान की पौराणिक कथा

शत्रुओं का नाश करने वाले, बुद्धि बल के दाता, संकटमोचन हनुमान जी ने विशेष प्रयोजन से पंचमुखी हनुमान का अवतार लिया था, कहते हैं कि…

राम हनुमान का युध्द

वैसे तो हनुमान को राम का अनन्य भक्त माना जाता है। फिर भी एक बार राम जी और हनुमान का युद्ध हुआ।गुरु विश्वामित्र के आदेश…